विज्ञापन क्या है? – विज्ञापन के कितने प्रकार होते हैं- जानिए संपूर्ण इंफॉर्मेशन 2021

विज्ञापन क्या है? – विज्ञापन के कितने प्रकार होते हैं- जानिए संपूर्ण इंफॉर्मेशन 2021

दोस्तों आपका हमारे ARTICLE में स्वागत है । दोस्तों आगे बढ़ने से पहले मैं आपसे इतना अवश्य कहना चाहूंगा कि इस ARTICLE के अंदर दी गई जानकारी को शुरु से लेकर END तक अवश्य पढ़ें।

इस आर्टिकल की HEADLINE है विज्ञापन (advertisement) क्या है। विज्ञापन (एडवर्टाइजमेंट) के प्रकार इन हिंदी. इन्ही विषय पर विस्तार से चर्चा करेंगे की  what is advertising और इतना अधिक पैसे विज्ञापन के लिए क्यो खर्च किया जाता है इसका क्या अर्थ होता है।

विज्ञापन दिखाने के बहुत सारे साधन है जिनके माध्यम से विज्ञापन को पब्लिश किया जाता है अगर आपने ध्यान दिया हो तो टीवी चैनलो, ONLINE VIDEO स्टीमिंग प्लेटफार्म, ADVERTISEMENT BOARD, पैम्फलेट, अनाउंसमेंट, विजिटिंग कार्ड, आदि तरीको से लोग अपने वस्तुओ की जानकारी PUBLIC तक पहुंचाते है इसका लाभ और हानि क्या है हम आगे बात करेंगे।

अक्सर विज्ञापन को उस जगह से किया जहा अधिक पब्लिक होती है जैसे रोड पर पोस्टर लगाना FILM THEATRE में ऐड प्ले करना या आपको TV CHANNEL, SERIAL देखते वक़्त काफी सारे Ads देखने को मिल जाते होंगे टीवी पर एक ADVERTISEMENT चलने का समय 30 से 60 सेकंड तक हो सकता है उसमे उस वस्तु Product की पूर्णतया उल्लेख की जाती है।

अधिकांश व्यक्तिओ के दिमांग में यह बात ज़रूर आती होगी की यह विज्ञापन (ADVERTISEMENT) क्यों चलाया जाता है इसके कई कारण है जिनके बारे आगे जानेगे परंतु विज्ञापन बहुत ही चतुराई से लिखी और कैची छवि को यूज़ करके बनाई जाती है ताकि ज्यादा से ज्यादा व्यक्ति इस product से आकर्षित हो।

विज्ञापन क्या है? What is advertisement-

Advertising का ही हिंदी अर्थ होता है Ads का नाम सुनते ही कई तरह के दिमांग में छवि बनने लगती है क्योकि हर रोज सैकड़ो Ads कही न कही दिखाई पड़ ही जाते है उन एडवर्टाइजमेंट का पिक्चर के रूप हमारे दिमांग से सेव हो जाती है इसलिए हर एडवर्टाइजमेंट का नाम लेते ही कई विज्ञापन (advertisement) याद आ जाते है।

विज्ञापन (advertisement) एक ऐसा जरिया है जिसके माध्यम से वस्तुओ सेवाओ या विचारो के quality के बारे आम जनता को बताना या जनता को अपने वस्तु की attracted करना जिससे उपभोक्ता आकर्षित होकर वस्तुओ और सेवाओं का अपने उपयोग करे इसी को विज्ञापन (advertisement) कहा जाता है।

आज विज्ञापन (advertisement) को घर घर तक हर इंसान तक बड़ी ही सरलता से पहुंचाया जाता है इसमें सबसे बड़ा योगदान SOCIAL MEDIA का है जिसे अधिकांश लोग यूज़ करते है। सुबह उठते ही जैसे NEWSPAPER पत्रिकाएं या टीवी ओपन करते है उसमे कई प्रकार के advertisement छपे होते है जिसे देखना ही पड़ता है ऐसे में हर इंसान को बहुत सारे Ads देखने को मिलते है क्योकि आज के समय में सड़क से घर तक MOBILE से TV तक किताबो से लेकर पत्रिकाओं तक विज्ञापन ही छपे होते है।

विज्ञापन का अर्थ।

दोस्तों आपको बता दें की विज्ञापन को english में Advertisement के नाम से जाना जाता है। यह Advertising शब्द लैटिन भाषा Advertere का word है जिसका अर्थ है मस्तिष्क को प्रभाभित करना इस शब्द से Advertising नाम रखा गया। उसका हिंदी अर्थ विज्ञापन ( advertisement) है।

दोस्तों आपको बता दें advertisement का अर्थ है किसी विशेष वस्तु या सेवा के बारे लोगो को सूचित करना सुचना देना या उस जानकारी (information) से आम लोगो को जागरूक करना होता है।

विज्ञापन के प्रकार इन हिंदी। Types of advertisement-

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि advertisement  कितने प्रकार होते है advertisement कई प्रकार से प्रसारण किया जाता है ताकि अधिक लोगो तक वस्तु की इंफॉर्मेशन कम समय में पहुंचाया जा सके। क्योकि हर advertisement प्रशारण करने वाली कम्पनिया अलग अलग प्लेटफार्म का इतस्तेमाल करती है इसी लिए कई व्यक्ति असमंजस में रहते है की आखिरकार कितने तरह से advertisement किया जाता है निचे प्रस्तुत किये गए एडवर्टाइजमेंट के मुख्य माध्यम जिसे आप पढ़कर समझ सकते है।

समाचार पत्र – एडवर्टाइजमेंट प्रसारण के बहुत सारे माध्यम है परंतु समाचार पत्र advertisement के लिए बहुत पुराना और सर्वश्रेष्ठ माध्यम है जो कई सालो से प्रचलन में है newspaper के माध्यम से वस्तुओ और सेवाओं का प्रचार बहुत ही आसानी से किया जा सकता है यह अधिकांश business के लिए उपयुक्त है।

रेडियो (Radio) : रेडियो काफी पुराना प्लेटफार्म है advertisement करने के लिए परंतु आज भी रेडियो के जरिये बहुत विज्ञापन करवाए जाते है आज भी radio सुनने वालो की बड़ी मात्रा है यही कारण है जिससे रेडियो के जरिये काफी advertisement करवाए जाते है। आर जे (Radio Jockey) कैसे बने? यह पढ़े।

पत्रिकाएं – मैगज़ीन भी advertisement के लिए काफी पॉपुलर है यह निश्चित टाइम पर public की जाती है जैसे वीकली, मंथली, 3 मंथली, 6 मंथली, और इयरली, की जाती है इसलिए oriented नीच यानि TARGET AUDIENCE होती है मैगज़ीन पढ़ने के लिए इस लिए इसे अच्छा ADVERTISEMENT माध्यम माना जाता है।

टेलीविज़न – टीवी पर प्ले होने वाले SERIAL, रियल्टी शो, मूवी, NEWS CHANNEL , के बीच बीच काफी Ads देखने को मिलते है यह महंगे ज़रूर होते है लेकिन असरदार ADVERTISEMENT होता है इसे TV CHANNEL तरह तरह से प्रस्तुत किया जाता है नाटकीय ढंग से वस्तु की विशेषताओ को बताया जाता है।

सिनेमा Cinema –  CINEMA HALL में अक्सर FILM PLAY होने से पहले या मध्य में और अन्त में ज़रूर कई प्रकार के ADVERTISEMENT दिखाए जाते है यह थोड़ा महंगा ज़रूर पड़ेगा बहुत काफी अच्छा असर public पर डालता है जिससे उत्पादन को उपभोक्ता उपयोग करता है।

सीधे मार्केटिंग – यह एडवर्टाइजमेंट माध्यम स्थानीय विज्ञापन प्रशारण के लिए उपयोगी साबित हो सकता है director email marketing फ़ोन कॉल या व्हाट्सप्प मेस्सेंजिंग अप्प के जरिये डायरेक्ट वार्तालाप किया जा सकता है ये काफी लाभकारी advertisement हो सकता है।

इंटरनेट (Internet) : आज के युग में इंटरनेट पर भर भरके एडवरटाइजिंग चलाई जाती है इंटरनेट internet से कई प्रकार के फिलटर का प्रयोग करके Ads चला सकते है यहाँ से online companies के अलावा offline company कम्पनीज भी विज्ञापन करती है internet से बैनर ऐड पॉपअप ऐड टेक्स्ट ऐड चलाकर प्रचार किया जा सकता है।

सोशल मीडिया (Social Media) : सोशल मीडिया का इस्तेमाल आज के इस समय में अधिकांश व्यक्ति यूज़ है इस लिए social media पर विज्ञापन करना काफी उपयुक्त हो सकता है यहाँ से अपने वस्तु और सेवा के हिसाब से जनता को attract किया जा सकता है यही कारण से Influencer के जरिये से काफी ads रन किये जाते है ये चाहे इंस्टाग्राम, facebook, ट्विटर, टेलीग्राम, whatsapp के जरिये क्यों न किया जाये इसकी रीच काफी अधिक होती है।

पोस्टर – पोस्टर के द्वारा विज्ञापन करना भी काफी आसान है क्योकि इन प्रकार के advertisement को printing मशीन से प्रिंट करवाकर गलियों मोहल्लो में सडको चौराहो आदि पर लगाए जाते है जिन्हे आते जाते और ठहरते लोग देख और पढ़ सकते है ये कही सही तरीका advertisement।

लाउडस्पीकर- यह advertisement माध्यम थोड़ा पुराना ज़रूर है लेकिन काफी उपयोगी विज्ञापन माध्यम माना जाता है loudspeaker विज्ञापन छोटे व्यवसाय या local business के लिए उपयोगी साबित हो सकता है इसके जरिये व्यवसाय के बारे में कुछ important information record करके गलियों मोहल्लो और छोटे शहरो में loudspeaker के द्वारा प्रशारण किया जा जाता है।

विज्ञापन के कार्य। Work of advertisement-

advertisement के कार्य क्या है, advertisement चलाना क्यों आवश्यक है इसके मुख्य कार्य क्या है आइये इस सवाल पर नजर डालते है। advertisement ही एक ऐसा माध्यम जो market में बने नए वस्तु नये सेवा या उत्पादन का आम लोगो से परिचय करवाता है जिससे उस product या सर्विस के बारे में लोग जानते है और उसका use करते है।

advertisement जनता को उस वस्तु को खरीदने के लिए प्रेरित करती है अपनी तरफ attracted करती है ताकि अधिक वस्तुओ सेवाओं को market में बेचा जा सके। अनजान ग्राहकों को अपने वस्तु से रूहबरु करवाना विज्ञापन का कार्य होता है ताकि उस वस्तु के बारे एक दुसरे के बीच चर्चा हो और ग्राहक प्रभावित होकर उपयोग करे।

वस्तुओ सेवाओ और विचारो को बनाने वालो के व्यापार को बढ़ाना ज्यादा से ज्यादा बिक्री करवाना  advertisement का कार्य है। व्यवसाय को बड़ा बनाने में विज्ञापन का अहम् रोल होता है एडवरटाइजिंग के कारण ही एक जगह पर बैठकर पूरी दुनिया में किसी वस्तु और सेवा का बिक्री किया जा सकता है यह विज्ञापन का ही देंन है।

विज्ञापन के लाभ। Benefits of advertisement

advertisement के लाभ की बात करे तो काफी benefits दीखते है आइये इसके लाभ के बारे में जानते है। दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी दोस्त इस आर्टिकल को आप अपने दोस्तों के साथ facebook whatsapp तथा सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफार्म पर शेयर करें। दोस्तों हमने आपको एडवर्टाइजमेंट अर्थात विज्ञापन के बारे में जानकारी दे दी है यदि आपको कोई जानकारी समझ में नहीं आई है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके उसके बारे में पूछ सकते हो दोस्तो हम आपको रिप्लाई अवश्य देंगे। धन्यवाद

Leave a Comment