बिटकॉइन क्या होता है ? जानिए इसके बारे में पूर्ण जानकारी।

बिटकॉइन क्या होता है ? जानिए इसके बारे में पूर्ण जानकारी।

साथियों सबसे पहले तो आप यहां पर यह जान लें कि बिटकॉइन एक वर्चुअल करेंसी होती है। और यह करेंसी इस प्रकार की होती है। जिसे कोई नहीं देख सकता है। यानी कि यह वर्चुअल फॉर्म में पाई जाती है। और इसे इलेक्ट्रॉनिक फॉर में सेव किया जाता है। वर्तमान के समय में इसका प्रचलन काफी ज्यादा बढ़ चुका है। एवं इसे अन्य करेंसी यों के जैसे भी खरीदा जा सकता है। जैसे कि डॉलर, क्रोना, रुपया एवं दिनार आदि।

और हम आपको बता दें कि बिटकॉइन एक क्रिप्टो करेंसी होती है।अगर आप इस का निवेश करना चाहते हैं। तो इसके लिए आपको सबसे पहले इसके बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है। इसलिए अगर आप इसके बारे में संपूर्ण जानकारी अपने हाथों में लेना चाहते हैं। तो आप हमारी इस पोस्ट में शुरू से लेकर अंत तक जरूर बने रहें क्योंकि इस पोस्ट के माध्यम से आपको संपूर्ण जानकारी स्टेप बाय स्टेप रूप के माध्यम से मिलने वाली है।

क्रिप्टो करेंसी क्या है?

साथियों क्रिप्टो करेंसी आभासी होती है। कहने का मतलब है।इसका कोई फिजिकल अस्तित्व नहीं होता है। इस करेंसी को कंप्यूटर के एल्गोरिदम के आधार पर बनाया गया है। और यह केवल इंटरनेट पर ही मौजूद पाई जाती है। यह एक प्रकार से स्वतंत्र मुद्रा होती है। और इस पर किसी भी प्रकार की कोई भी अथॉरिटी का कोई नियंत्रण नहीं होता है। और जो भारत में नोटबंदी हुई थी।

उसका भी इस पर कोई भी फर्क नहीं पड़ा था। आमतौर पर दुनिया में कई प्रकार की क्रिप्टो करेंसी पाई जाती हैं। जो कि निम्नलिखित हैं। उदाहरण के तौर पर बिटकॉइन, रेड कॉइन, एथेरियम, सियाकॉइन एवं रिप्पल ( एक्स आर पी) और मुनरो आदि होती हैं। इससे आपको काफी ज्यादा फायदा भी मिलता है।

बिटकॉइन क्या होता है?

जैसा की अभी भी आप क्रिप्टो करेंसी के बारे में पढ़ चुके हैं। तो बिटकॉइन का एक अंग्रेजी शब्द क्रिप्टो होता है। जिसका अर्थ गुप्त रखा है। वैसे यह एक तरह की डिटेल करेंसी होती है। जो कि क्रिप्टोग्राफी के नियमों के मुताबिक चलाई और बनाई गई है। क्रिप्टोग्राफी का मतलब कोडिंग की भाषा को समझाने की कला होता है। जैसा कि आप जानते हैं बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है। इससे आप बिटकॉइन वॉलेट में सेव करके रख सकते हैं।

यह जो क्रिप्टोकरंसी है वह वास्तव में एक्सिस्ट नहीं कर पाती है। और उसे हम सिक्योर ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने के लिए इस्तेमाल करते हैं। और यह 0 से 1 सीरीज मैं ही आ जाती है। और इसे कंप्यूटर में सेव किया जा सकता है। ऐसी काफी सारी बड़ी-बड़ी कंपनियां है. जिन्होंने इस को अपनाया है।उदाहरण के तौर पर माइक्रोसॉफ्ट, टेस्ला हाथ कंपनियों ने इसे एक्सचेंज के रूप से अपना लिया है।

इसका निर्माण लगभग 2008 में सतोशी नाकामोतो व्यक्ति ने किया था। मगर 2009 में इसे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में उपयोग किया जाने लगा और हम आपको बताते हैं। इसकी सबसे छोटी यूनिक सतोशी होती है। 1 बिटकॉइन = 10 करोड़ सतोशी होती है।और सतोशी नाकामोतो को बिटकॉइन का फाउंडर कहते हैं।

बिटकॉइन प्रोड्यूस कैसे करें?

जैसा के दोस्तों अभी अभी आप ऊपर पड़ी चुके हैं। कि यह एक प्रकार की डिजिटल मुद्रा होती है।इसका वास्तविक रूप में कोई अस्तित्व नहीं है। इसी वजह से इसे प्रोड्यूस करने में कठिन मेहनत करनी पड़ती है। क्योंकि यह माइनिंग पद्धति से आया है। इसी कारण से इलेक्ट्रॉनिक करेंसी होने के वजह इसकी कीमत बढ़ती ही जाती है। वैसे माइनर मैथमेटिकल एवं क्रिप्टोग्राफी समस्याओं को सॉल्व किया करते हैं।

अगर माइनर इस समस्या को सुलझा देते हैं। तूने ब्लॉक के रूप में बिटकॉइन रिकॉर्ड किया जाता है। वैसे माइनिंग की प्रोसेस काफी ज्यादा लेंथी होती है। और लिमिटेड संख्या में बनाई आने के कारण इसकी मांग बढ़ती ही जा रही है।

फिटकरी का इस्तेमाल कैसे करते हैं?

आप बिटकॉइन का इस्तेमाल अलग-अलग ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के रूप में कर सकते हैं। यह p2p नेटवर्क पर कार्य करता है। आज के टाइम पर ज्यादातर डेवलपर्स, NGOs इसका उपयोग ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए करते हैं। और इसी वजह से यह काफी अगर लोकप्रिय हो चुका है। अगर हमने किसी को ऑनलाइन पेमेंट किया है। फिर हम बैंक में ट्रांजैक्शन करेंगे तो हम यह जान लेते हैं। कि हमने पेमेंट किसको किया है? मगर बिटकॉइन का जो रिकॉर्ड होता है। वह पब्लिक लेजर मैं स्थित होता है। जिसेबिटकॉइन ब्लॉकचेन से जानते हैं।

जानिए बिटकॉइन के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें?

दोस्तों बिटकॉइन में आप ट्रेंडिंग कर सकते हो इसे लगभग 2011 में शुरू किया था। सबसे पहले आपको इसके अंदर एक अकाउंट बनाना पड़ेगा। ईमेल कंफर्मेशन एवं अकाउंट वेरीफिकेशन के बाद आपको ट्रेडिंग मेथड को चुन लेना है। और बिटकॉइन की जानकारी के लिए, ट्रेडिंग के लिए बिटकॉइन ट्रेडिंग कार्ड होता है। क्योंकि इसके अंदर बिटकॉइन की कीमत की हिस्ट्री पाई जाती है। एवं बिटकॉइन में चेंजिंग अनप्रिडिक्टेबल होती है।

और यह एक प्रकार की वर्चुअल करेंसी होती है यह बाजार के उतार-चढ़ाव पर भी डिपेंड होती है। आरबीआई ने लगभग सन 2013 में प्रेस रिलीज में ऑफिशियल परमिशन नहीं है। क्योंकि इश्क में एक जोखिम पाया गया है। यानी कि अगर आप अपना पासवर्ड भूल गए हो तो आप अपने केस को हमेशा के लिए हो सकते हैं। तुम्हें कई बार ऐसा हो चुका है बिना किसी चेतावनी के बिटकॉइन की कीमत एक ही दिन में 40 से 50 फ़ीसदी तक गिर चुकी थी।

अगर हम बिटकॉइन के वैल्यू की बात करें तो आपको यह जानकर हैरानी होगी कि एक बिट कॉइन की वैल्यू आज के इस टाइम पर भारत में 2556140 रुपए होती है। और इसका अथॉरिटी पर किसी प्रकार का कोई नियंत्रण नहीं पाया जाता है। इसी कारण से मार्केट के अनुसार इसके पैसों में उतार चढ़ाव लगा रहता है।

बिटकॉइन के क्या-क्या लाभ होते हैं?

साथिया में बिटकॉइन के काफी सारी लाभ देखने को मिलते हैं। जिनसे हमें काफी ज्यादा फायदा होता है। उदाहरण के तौर पर-

• बिटकॉइन को दुनिया में किसी भी जगह पर आराम से दिया जा सकता है।

• कोई भी व्यक्ति विद्वान के अकाउंट को ब्लॉक नहीं कर सकता है। जबकि कभी-कभी हमारे बैंक अकाउंट ब्लॉक हो जाते हैं।

• एवं इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। बस इसमें ट्रांजैक्शन फीस देनी पड़ती है।

• इसके अंदर मिडिलमैन की कोई भी भूमिका नहीं पाई जाती है। इसमें बहुत ही कम खर्च में लेनदेन होता है।

• और किसी भी देश ने इसे वैधानिक मान्यता नहीं दी। इसी कारण से इसका इस्तेमाल बिना किसी एक्स्ट्रा कॉस्ट के किया जाता है।

बिटकॉइन के नुकसान क्या है?

बिटकॉइन के फायदों की तुलना में इसके नुकसान बहुत ही कम पाए जाते हैं। बिटकॉइन का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है। कि यदि आपका डाटा हैक हो जाता है। और रिकवर ना हो या फिर आप पासवर्ड भूल जाएं तो फिर आप बिटकॉइन दोबारा से प्राप्त नहीं कर पाओगे। सिर पर किसी भी और 3डी का कोई नियंत्रण नहीं होता है। इसी वजह से इसका इस्तेमाल गैरकानूनी चाहिए खरीदने के लिए भी किया जा सकता है.

बिटकॉन को कैसे कमाया जा सकता है?

जैसा कि साथियों हमने आपको यह तो बता दिया है। कि बेटा कौन किया है? अब आपके लिए यह जानना भी जरूरी है। कि आखिरकार बिटकॉइन को कैसे कमाया जा सकता है? आमतौर पर इसके द्वारा पैसे कमाने के 3 तरीके पाए जाते हैं।

(1) आप बिटकॉइन को डायरेक्ट 1 बिटकॉइन $999 से खरीद पाओगे अगर आपका मन हो तो आप इसकी सबसे छोटी जीने की सतोशी भी खरीद सकते हो।

(2) और ऑनलाइन खाना सामान की खरीद फरोख्त करते हैं। आप उन्हें पैसे देकर बिटकॉन ले सकते हो। और आपकी जो बिटकॉन होंगी वह वॉलेट में सेव हो जाएंगे।

(3) एवं आपको हाय सर कंप्यूटर की आवश्यकता होती है। क्योंकि यह बिटकॉइन के द्वारा ऑनलाइन पेमेंट करने के काम में आता है। वह भी तब जब कोई भी दुकान से ट्रांजैक्शन करता है।

अंतिम शब्द

तू दोस्तों अब आप समझ ही गए होंगे कि बिटकॉइन क्या है?और इसे कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है। एवं हमने आपको इसके बारे में और भी काफी कुछ बता दिया है। हमें उम्मीद है कि हमारी इस पोस्ट से आपको कुछ ना कुछ नया सीखने को जरूर मिला होगा अगर आपको मारियो पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर कर सकें ताकि वह भी इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर पाए धन्यवाद

Leave a Comment